Wednesday, 16 July, 2008

महबूब

महबूब वादा कर के भी आया ना दोस्तों
क्या क्या किया ना हम ने यहाँ उस के प्यार में
मुर्गे चुरा के लाये थे जो चार
दो आरजू में कट गए, दो इंतज़ार में

0 comments:

Similar Posts