Wednesday, 23 July, 2008

टेलीफोन

हमारा टेलीफोन है कितना महान
एक नमूना देखिये श्रीमान
हमने लगाया रेलवे inquiry
लग गया कब्रिस्तान

हुआ यूं के हमें कहीं जाना था
सो गाड़ी में आरक्षण करवाना था
सोच के हमने रेलवे का नम्बर लगाया
हमें क्या मालून उधर कब्रिस्तान के बाबु ने उठाया

हमने कहा - एक बर्थ चाहिए, मिल जायेगी?
बैठे ही आपके लिए हैं, हमारी सेवा कब काम आएगी?
हमारा होते बिलकूल न घबराइये
एक क्या दस बर्थ खाली हैं, पूरे खानदान को ले आइये!

0 comments:

Similar Posts